Political

आखिर क्यों बोलीं स्मृति ईरानी के , नरेंद्र मोदी राजनीति से संन्यास लेंगे तो मैं भी अलविदा कह दूंगी?

source: India.com
Written by FGV Team

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कई बार सार्वजनिक तौर पर अपना रोल मॉडल बता चुकीं केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि अगर पीएम मोदी राजनीति से संन्यास लेते हैं तो वह भी संन्यास ले लेंगी। वर्ड्स काउंट फेस्टिवल कार्यक्रम में हिस्सा लेने पुणे पहुंची स्मृति इरानी ने परिचर्चा के दौरान यह बड़ा बयान दिया। बता दें कि अमेठी में 2014 में चुनाव प्रचार के दौरान स्मृति को पीएम मोदी ने छोटी बहन कहकर संबोधित किया था।

कार्यक्रम के दौरन एक श्रोता ने उनसे पूछा कि वह कब प्रधान सेवक बनेंगी तो इस बात का जवाब देते हुए स्मृति ने कहा कि देश के प्रधान सेवक मोदी जी हैं और उनके राजनीति से जाते ही वह भी राजनीति से बाहर हो जाएंगी.

source: Zee news

आपको बता दें कि प्रधान सेवक शब्द का इस्तेमाल मोदी खुद के लिए करते हैं. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने आगे कहा-कभी नहीं. मैं राजनीति में बेहतरीन नेताओं के साथ काम करने के लिए आई हूं और इस मामले में मैं बेहद सौभाग्यशाली रही हूं कि मैंने दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी जैसे दिग्गज नेता के नेतृत्व में काम किया और अब मोदी जी के साथ काम कर रही हूं.’ उन्होंने कहा, जिस दिन ‘प्रधान सेवक’ नरेंद्र मोदी राजनीति से संन्यास ले लेंगे, मैं भी भारतीय राजनीति को अलविदा कह दूंगी.

Image result for smriti irani and modi

हाल ही में स्मृति ईरानी को कांग्रेस पर जोरदार हमला करने के लिए प्रवक्ता बनाया गया है, क्योंकि वह हाजिरजवाब और स्पष्ट वक्ता हैं. पिछले लोकसभा चुनाव में ईरानी ने कांग्रेस के गढ़ अमेठी में कांग्रेस नेता राहुल गांधी को चुनौती दी थी. नेहरु-गांधी परिवार के सदस्यों पर आरोपों के संबंध में बीजेपी की ओर से हमला करने में वह हमेशा मुखर रही हैं. यहां तक कि विवादित राफेल विमान सौदे को लेकर सरकार पर कांग्रेस द्वारा लगाए जा रहे आरोपों पर उन्होंने कई बार स्पष्ट तरीके से पार्टी का नजरिया पेश किया है. बीजेपी ने पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम के बयान पर पलटवार करने के लिए भी स्मृति ईरानी को ही उतारा था.

Source: firstpost

5 Comments

Leave a Comment

Show Buttons
Hide Buttons