Political

क्या वाक़ई वसुंधरा जी आपने 44 लाख नौकरियां दी हैं?

source: Scroll.in
Written by FGV Team
हाल ही मैं राजस्थान बीजेपी ने अपने आधिकारिक ट्विटर पे 9 नवंबर ट्वीट करते हुए कहा हे ही हमने 15 लाख नौकरियों का वादा किया था जबकि 44 लाख नौकरियां दी गयीं हैं  अब  देखना यह है कि इस बात में कितना सच हे और कितना झूठ |

जाने- माने पत्रकार रविश कुमार के लेख के अनुसार. राजस्थान बीजेपी का ट्वीट है तो यह राजस्थान के बारे में ही दावा होगा. मैंने एक दिन नहीं, कई हफ़्ते प्राइम टाइम में नौकरी सीरीज़ की है. हमने देखा है और दिखाया है कि कैसे पंजाब, मध्य प्रदेश, बिहार, यूपी और राजस्थान में नौजवानों को विज्ञापन देकर उलझाया जाता है. हमारे नौजवानों ने बहुत विरोध किया. प्रदर्शन किया. अपनी जवानियां बर्बाद होती देखी मगर किसी ने उनका साथ नहीं दिया. मुझे यक़ीन नहीं होता कि राजस्थान में 44 लाख नौकरियां दी गई हैं.
राज्य सरकार यही साबित कर दे कि उसके चयन आयोग ने 44 लाख नौकरियों का विज्ञापन निकाला है. राजस्थान का कोई पत्रकार ही बता दे. पत्रिका और भास्कर का संपादक बता दे. राजस्थान का ही कोई परीक्षार्थी भी बता दे कि क्या उसने इतने विज्ञापन देखे हैं. ऐसा लगता है कि राजनीतिक दल अब झूठ पर ही निर्भर हो चुके हैं. कई तरह के झूठ बोले जाते हैं ताकि नए और अप्रभावित वर्ग को लगे कि उसे लाभ नहीं मिला तो कोई बात नहीं, दूसरे को मिला है. नौजवानों को लगे कि मुझे नौकरी नहीं मिली तो क्या हुआ, भारत का विदेशों में नाम हुआ है. जो बिज़नेस में हैं उन्हें अच्छा लगे कि चलो उनका धंधा डूब गया तो कोई बात नहीं, नौजवानों को तो नौकरी मिली है. कुछ तो अच्छा हो रहा है.

source: NDTV Khabar

मुख्यमंत्री भी साबित नहीं कर सकती हैं कि उनकी सरकार ने 44 लाख नौकरियां दी हैं. राजस्थान बीजेपी ने वसुंधरा राजे के ट्विटर अकाउंट को भी टैग किया है. प्रधानमंत्री भी साबित नहीं कर सकते हैं कि दिल्ली में उनकी सरकार ने 44 लाख नौकरियां दी हैं. आज के समय में कोई भी राज्य सरकार चाहे वह किसी पार्टी की हो, दावा नहीं कर सकती है और न साबित कर सकती है कि उसने पांच साल में 44 लाख नौकरियां दी हैं.  source: NDTV

12 Comments

Leave a Comment

Show Buttons
Hide Buttons