Latest

कहीं येदियुरप्पा के साथ वो तो नहीं होगा जो पहले दो बार हो चुका है?

Written by vivek

बूकनाकेरे सिद्धालिंगप्पा येदियुरप्पा ने 17 मई को कर्नाटक के 19वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ले ली है. बीजेपी 104 विधायकों के साथ कर्नाटक विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी बनकर आई है राज्यपाल वजुभाई वाला ने येदियुरप्पा को शपथ लेने का न्यौता दिया. और येद्दी ने शपथ ले ली|

हालांकि राज्यपाल के येदियुरप्पा को न्यौता देने के खिलाफ कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई. रात को दो बजे सुनवाई शुरू हुई और 3 जजों की बेंच –  जस्टिस अशोक भूषण, जस्टिस सीकरी और जस्टिस बोबड़े – ने सुनवाई शुरू की| कांग्रेस की तरफ से अभिषेक मनु सिंघवी जिरह कर रहे थे तो दूसरी तरफ मुकुल रोहतगी थे. कोर्ट ने कहा कि वो राज्यपाल को मामले में पार्टी नहीं बना सकते. शपथ पर रोक भी नहीं लगाएंगे. लेकिन अगर गवर्नर को दिए कागजों में खामियां नहीं हुई तो येदियुरप्पा की शपथ को भी रद्द कर सकते हैं. कोर्ट ने अगली सुनवाई के लिए शुक्रवार 10 बजे का वक्त दिया|अब येदियुरप्पा की थोड़ी हिस्ट्री बता देते हैं. राजनीति से पहले वो शिमोगा के समाज कल्याण विभाग के दफ्तर में क्लर्क का काम करते थे. 1980 में बीजेपी के बनने के बाद 1981 में वो राजनीति में आ गए.1983 से लगातार शिकारीपुरा सीट से विधायक हैं. 2006-07 और 2014-18 तक शिमोगा से सांसद रहे. दो बार कर्नाटक के सीएम रहे पर कार्यकाल पूरा नहीं कर सके|

12 नवंबर 2007 को वो पहली बार सीएम बने. लेकिन सात दिन बाद कुमारस्वामी ने समर्थन वापस ले लिया तो सरकार गिर गई. राज्य में फिर चुनाव हुए तो बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बन के आई. येदियुरप्पा ने अपनी युक्तियां लगाकर ऑपरेशन लोटस से सरकार बना ली|

बदकिस्मती ने फिर भी पीछा नहीं छोड़ा. लोकायुक्त की रिपोर्ट में मुख्यमंत्री येदियुरप्पा पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे. येदियुरप्पा को 3 साल 62 दिन बाद फिर से इस्तीफा देना पड़ा. इसके बाद 25 दिन की जेल भी हुई|2018 के विधानसभा चुनाव में मोदी-शाह की जोड़ी ने फिर से उन पर भरोसा जताया. उन्हें मुख्यमंत्री का उम्मीदवार बनाया. बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बन के आई. और येदियुरप्पा फिर से सीएम बन गए|

अब दो बातें हैं जो येदियुरप्पा का इतिहास दोहरा सकती हैं. पहली उनके पास जरूरी संख्या नहीं है और फ्लोर टेस्ट तक मैनेजमेंट नहीं हुआ तो मामला बिगड़ सकता है. दूसरी, सुप्रीम कोर्ट अगर शपथ रद्द कर देता है तो येदियुरप्पा को पद छोड़ना पडेगा|

 

 

Leave a Comment

Show Buttons
Hide Buttons