Latest Rapchik News

क्या आप जानते है किन्नरों की जिंदगी से जुड़े ये रहस्यमयी तथ्य, आख़िर क्यों एक रात की सुहागन बन्ने के बाद उजाड़ लेते है अपनी मांग

Written by vivek

किन्नकर एक ऐसा समाज है जिसके बारे में लोग बात करना भी पसंद नहीं करते. उनसे जुड़े कई ऐसे फैक्ट्स हैं जो शायद ही किसी को पता हों. तमिलनाडु का कूवगम गांव ट्रांसजेंडर्स का तीर्थ स्थल जाता है. हर साल यहां कूवगम फेस्टिवल मनाया जाता है. इस साल भी 2 मई को कूवगम फेस्टिवल खत्म हुआ. यहां देश भर के ट्रांसजेंडर्स पहुंचे थे. यहां कई तरह के इवेंट होते हैं. ये त्योहार 18 दिन तक चलता है. उत्सव के दौरान ट्रांसजेंडर्स हर रात अर्जुन के पुत्र अरावन की पूजा करने मंदिर जाते है|

यह भी पढ़े :http://firegoesviral.in/rss-4/

18 दिन तक चलने वाले इस त्योहार में मिस कूवगम ब्यूटी कॉन्टेस्ट होता है. इस दिन महाभारत के उस अध्यााय का मंचन किया जाता है जब भगवान कृष्ण ने मोहिनी का रूप धारण कर अर्जुन के बेटे अरावन से शादी की थी. त्योहार के आखिरी दिन सभी किन्नबर अरावन से एक रात के लिए शादी करते हैं. अगले दिन अरावन की मूर्ति को कूवगम में घुमाया जाता है और नष्ट कर दिया जाता है|

यह भी पढ़े :http://firegoesviral.in/pressfreedomday/
शादी के दिन सभी किन्नगर अरावन के नाम का मंगलसूत्र धारण करते हैं और दुल्हन की तरह तैयार होते हैं. इस दिन जमकर नाच गाना होता है. अगले ही दिन इन्हें विधवा कर दिया जाता है. फिर मातम भी मनाया जाता है. मंगलसूत्र को हासिए से काट दिया जाता है और चूड़ियों को नारियल से तोड़ दिया जाता है| मिस कूवगम कॉन्टेस्ट बिलकुल उसी तरह किया जाता है जैसे मिस इंडिया का कॉन्टेस्ट होता है. जीतने वाले किन्नमर को बहुत इज्जत दी जाती है. इस त्योहार को देखने के लिए दूर-दराज से लोग आते हैं. किसी भी तरह के विवाद से बचने के लिए पुलिस की कड़ी सुरक्षा के बीच पूरे कार्यक्रम का आयोजन होता हे.

Leave a Comment

Show Buttons
Hide Buttons